Home » DURG जिले के 6 विस में से सबसे पहले BHILAI नगर व आखिरी में अहिवारा विस चुनाव के आएंगें नतीजे….

DURG जिले के 6 विस में से सबसे पहले BHILAI नगर व आखिरी में अहिवारा विस चुनाव के आएंगें नतीजे….

by Bhupendra Sahu

दुर्ग। दुर्ग जिले के 6 विधानसभा सीटों के कुल 93 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला कल याने मतगणना के दिन 3 दिसंबर को होगा। मतगणना के लिए जिला निर्वाचन कार्यालय ने जुनवानी रोड स्थित श्री शंकराचार्य इंजीनियरिंग कॉलेज में सभी तैयारियां पूर्ण कर ली है। मतगणना के लिए विधानसभावार 14-14 टेबल लगाए गए है। मतगणना की शुरुवात सुबह 8 बजे होगी। पहले डाकमतों की गणना की जाएगी, तत्पश्चात साढ़े 8 बजे से ईव्हीएम के मतों की गिनती शुरु होगी। पहले राउंड की गिनती सुबह साढ़े 9 बजे तक पूरी कर ली जाएगी। जिससे प्रारंभिक रुझान भी आने शुरु हो जाएंगे।

पाटन विधानसभा की मतगणना 18 राउंड में पूरी होगी। इसी प्रकार दुर्ग ग्रामीण 17 राउंड, दुर्ग शहर 16 राउंड, भिलाई नगर 12 राउंड, वैशाली नगर 18 राउंड और अहिवारा की मतगणना 19 राउंड में होगी। लिहाजा भिलाई नगर विधानसभा के चुनाव परिणाम सबसे पहले आएंगे, वहीं अहिवारा विधानसभा चुनाव के नतीजे सबसे अंतिम में आएंगे। मतगणना के पहले व दूसरे राउंड को छोड़कर शेष राउंड की मतगणना में आधे-आधे घंटा का समय लगेगा।

RO 12737/ 72

जिससे प्रत्याशियों के बढ़त बनाने और पिछडऩे के चुनावी रुझान मिलते रहेंगे। इस विधानसभा चुनाव में दुर्ग जिले अंतर्गत दुर्ग शहर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अरुण वोरा, भाजपा प्रत्याशी गजेन्द्र यादव, दुर्ग ग्रामीण से कांग्रेस प्रत्याशी ताम्रध्वज साहू, भाजपा प्रत्याशी ललित चंद्राकर, भिलाई नगर से कांग्रेस प्रत्याशी देवेन्द्र यादव, भाजपा प्रत्याशी प्रेमप्रकाश पांडेय, वैशाली नगर से कांग्रेस प्रत्याशी मुकेश चंद्राकर, भाजपा प्रत्याशी रिकेश सेन, अहिवारा से कांग्रेस प्रत्याशी निर्मल कोसरे, भाजपा प्रत्याशी डोमनलाल कोर्सेवाड़ा और हाईप्रोफ ाईल सीट कहे जाने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह विधानसभा क्षेत्र पाटन में कांग्रेस प्रत्याशी भूपेश बघेल, भाजपा प्रत्याशी सांसद विजय बघेल और जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी अमित जोगी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। हालांकि 17 नवंबर को मतदान के बाद कांग्रेस-भाजपा के अलावा अन्य प्रत्याशियों द्वारा अपने-अपने जीत के दावे किए गए है, लेकिन चुनाव को लेकर आए प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया के एक्जिट पोल ने कांग्रेस खेमे में उत्साह का संचार कर दिया है।

बावजूद भाजपा खेमा अभी भी निराश नहीं है। भाजपा नेताओं को पूरी उम्मीद है कि जब 3 दिसंबर को मतगणना के दिन ईव्हीएम खुलेंगे तो उसमें कमल खिलेगा। कांग्रेस-भाजपा नेताओं के इन दावों ने मुकाबला को बराबर का बना दिया है। जिससे मतदाता भी जिले के सभी 6 विधानसभा सीटों पर कांटे की टक्कर होना मान रहे है। कौन प्रत्याशी जीतेगा या किसे पराजय का सामना करना पड़ेगा फिलहाल यह कहना अभी अतिश्योक्ति होगा। लेकिन चुनाव के दौरान कांग्रेस-भाजपा व अन्य दलों के बीच मचे घमासान ने इस चुनाव के परिणाम को काफी रोचक व दिलचस्प बना दिया है।

परिणाम का प्रत्याशियों के साथ-साथ उनके समर्थकों और मतदाताओं को भी बेसब्री से इंतजार है। मतगणना से पूर्व शनिवार को जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने मीडिया से चर्चा में मतगणना की तैयारियों एवं उससे जुड़े अन्य विषयों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होने बताया कि मतगणना स्थल में टेबल के आधार पर प्रत्येक टेबल के लिए एक गणना प्रेक्षक और एक गणना सहायक तथा एक माइक्रो आब्जर्वर की नियुक्ति की गई है।

मतगणना स्थल पर केवल पास धारियों को प्रवेश मिलेगा। मतगणना स्थल में मोबाइल फोन,आईपेड,लेपटाप,स्मार्ट वाच, कैमरा व अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण, बीड़ी,सिगरेट, गुटखा ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा। प्रत्याशियों के मतगणना एजेंटों को मतगणना स्थल पर ही प्लास्टिक पेन,पेपर व केलकुलेटर उपलब्ध करवाए जाएंगे। श्री मीणा ने बताया कि मतगणना स्थल पर तीन लेयर की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की गई है। स्पेशल फोर्स की ड्यूटी लगाई गई है।

Share with your Friends

Related Articles

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More