Home » अयोध्या में विराजे राम, प्रधानमंत्री की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न

अयोध्या में विराजे राम, प्रधानमंत्री की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न

by Bhupendra Sahu

अयोध्या । सैकड़ों सालों से लंबित अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन आज यानी 22 जनवरी को हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन किया गया. देश-विदेश से तमाम बड़ी हस्तियां प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में मौजूद रहीं. इसके साथ ही पूरा विश्व इस ऐतिहासिक पल का गवाह बना. रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए दोपहर 12:29 बजे से 8 सेकंड का शुभ मुहूर्त शुरू होकर 12:30:32 बजे तक रहा. आपको बता दें कि राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर पूरी अयोध्या नगरी को फूलों और विशेष रोशनी से सजाया गया है. इसके साथ ही पूरा शहर धार्मिक उत्साह से सराबोर है. शहर में जगह-जगह धनुष और तीर के कटआउट लगे हैं. जबकि फ्लाईओवर पर स्ट्रीटलाइट्स को प्रभु राम की कलाकृतियों से सजाया गया है.

RO 12737/ 72

राम मंदिर में रामलला प्राण प्रतिष्ठा के साथ ही अयोध्या समेत पूरा देश राममय हो गया है. धार्मिक नगरी अयोध्या में जगह-जगह रामलीला का मंचन किया जा रहा है. मंदिरों में भागवत कथाएं, भजन संध्याएं और सांस्कृतिक कार्यक्रम चल रहे हैं. फूलों की डेकोरशन और लाइटिंग में जय श्री राम का चित्रण करने वाले अयोध्या नगरी के मुख्य द्वार की रोनक बढ़ा रहे हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि भारत के साथ-साथ 60 अन्य देशों में राम मंदिर का जश्न मनाया जा रहा है. अमेरिका, फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया तक कई देशों में हिंदू प्रवासी समूहों के द्वारा विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में पहुंचने से पहले प्रधानमंत्री कार्यलय की तरफ से एक वीडियो शेयर किया गया. हेलीकॉप्टर से शूट इस वीडियो में भव्य राम मंदिर का दिव्य नजारा दिखाई दे रहा है. उत्तर प्रदेश सरकार ने प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भाग लेने वाले 300 गणमान्य व्यक्तियों की एक सूची प्रदान की थी और उन्हें राज्य के मेहमानों के लिए प्रोटोकॉल प्रदान किया गया. सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक, करीब 150 वीआईपी रविवार को अयोध्या पहुंचे.

Share with your Friends

Related Articles

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More