Home » बस्तर की प्राचीन संस्कृति और परम्परा के संरक्षण व संवर्धन के लिए सरकार कृतसंकल्पित – मुख्यमंत्री बघेल

बस्तर की प्राचीन संस्कृति और परम्परा के संरक्षण व संवर्धन के लिए सरकार कृतसंकल्पित – मुख्यमंत्री बघेल

by admin

रायपुर :  मुख्यमंत्री ने नारायणपुर जिले को दी लगभग 84 करोड़ रूपए के विकास कार्यों की सौगात

RO 12737/ 72

-नारायणपुर जिले में 100 घोटुल और सभी 104 ग्राम पंचायतों में देवगुड़ी के निर्माण की मुख्यमंत्री ने घोषणा की

-नारायणपुर-अंतागढ़ स्टेट हाईवे के चौडीकरण और मजबूतीकरण की भी घोषणा

-बंधुवा तालाब नारायाणपुर का 6 करोड़ रूपये से होगा गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण

प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दो दिवसीय प्रवास पर आज शनिवार को नारायणपुर पहुंचे और वहां 77 करोड़ 80 लाख रूपये के 26 कार्यों का भूमिपूजन और 8 करोड़ 11 लाख रूपये के 14 विकास कार्यों का लोकर्पण किया। विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमिपूजन के अवसर पर आयोजित समारोह में विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि बस्तर की प्राचीन संस्कृति व परम्परा के संरक्षण तथा संवर्धन के लिए सरकार कृतसंकल्पित है। नारायणपुर जिले में 50 घोटुल निर्माण की मांग थी, लेकिन हमारी सरकार 100 घोटुल बनायेगी। साथ ही जिले के सभी 104 ग्राम पंचायतों में देवगुड़ी का भी निर्माण किया जायेगा। प्रत्येक देवगुड़ी के लिए 6 लाख रूपये की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि देवगुड़ी निर्माण सहित अन्य सुविधाओं के लिए कुल 9 लाख रूपये खर्च किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री बघेल ने वहां ग्रामीणों की मांग पर नारायणपुर और कांकेर जिले को जोड़ने वाली मुख्य सड़क नारायणपुर-अंतागढ़ स्टेट हाईवे के चौडीकरण एवं मजबूतीकरण करने की घोषणा की। उन्होंने जिला मुख्यालय नारायणपुर में सर्व सुविधायुक्त मंगल भवन का निर्माण करने तथा नगर के बंधुवा तालाब के सौंदर्यीकरण एवं गहरीकरण के लिए 6 करोड़ रूपये स्वीकृत करने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नारायणपुर में विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमिपूजन के पश्चात् जिले की जनता को नव वर्ष की बधाई देते हुए कहा कि जिले की जनता में उत्साह और काम करने की ललक देखकर मुझे अपार खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत् गन्ना, मक्का एवं धान उत्पादक किसानों को 10 हजार प्रति एकड़ के हिसाब से लाभ पहुंचाया जा रहा है, अब कोदो, कुटकी उत्पादक किसानों को भी इस योजना के तहत् जोड़ा जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार वनवासियों को वन अधिकार मान्यता पत्र प्रदान करने का कार्य कर रही है, निरस्त दावों का पुनः परीक्षण कर पात्रतानुसार हितग्राहियों को वन अधिकार पट्टा प्रदान किया जा रहा है। अबूझमाड़ क्षेत्र का सर्वे सेटेलाईट के माध्यम से कराया जाकर वहां वनभूमि में काबिज लोगों को भी वन अधिकार पट्टा प्रदान किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि हमारी सरकार संकट की घड़ी में आपके साथ हमेशा खड़ी है। सरकार द्वारा कोरोना काल में भी लघु वनोपज की खरीदी की गयी, पहले केवल 7 प्रकार के लघु वनोपज की खरीदी होती थी, हमारी सरकार द्वारा 52 प्रकार के लघुवनोपजों की खरीदी की जा रही है। कोरोना काल में मनरेगा के माध्यम से लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने में हमारा राज्य पूरे देश में अग्रणी रहा है। अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों की सुविधाओं का ध्यान रखा गया तथा लोगों को 3 महीने का निःशुल्क राशन भी उपलब्ध कराया गया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना की शुरूआत बस्तर संभाग से किया गया, जो अब पूरे राज्य में संचालित किये जा रहे है। राज्य में कुपोषण के खिलाफ अभियान भी चलाया जा रहा है, वर्तमान में 77 हजार बच्चे कुपोषण से मुक्त हो चुके हैं। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के तहत् 14 लाख घरों में जाकर स्वास्थ्य परीक्षण किया गया, ताकि मलेरिया से किसी को मौत न हो, इस अभियान में हम निश्चित रूप से सफल होंगे।

इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री तथा नारायणपुर जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रूद्र कुमार ने आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश के सभी क्षेत्रों में विकास हो रहा है तथा लोग अब आत्म सम्मान से जीने लगे हैं। कार्यक्रम को आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने संबोधित करते हुए कहा कि बस्तर विकास प्राधिकरण एवं सरगुजा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष पूर्व में मुख्यमंत्री हुआ करते थे, हमारी सरकार का गठन होने के बाद स्थानीय लोगों को अध्यक्ष बनने का मौका दिया गया, जिससे सही मायने में इन क्षेत्रों का विकास हो रहा है, जिससे स्थानीय लोगों के हितों की रक्षा हो रही है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ हिन्दुस्तान का इकलौता राज्य है, जहां पर गोबर की खरीदी हो रही है और लोगों को गोबर बेचने से भी आमदनी प्राप्त हो रही है।

स्थानीय सांसद दीपक बैज एवं विधायक चंदन कश्यप और राज्य सभा सांसद श्रीमती फूलोदेवी नेताम ने भी सभा को संबोधित किया तथा कहा कि भूपेश सरकार किसानों के मसीहा हैं और उनके सुख-दुख में हमेशा साथ खड़े हैं। कार्यक्रम में राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक अनूप नाग, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती श्यामबती नेताम, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी, रजनू नेताम और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने किया 26 कार्यों का भूमिपूजन एवं 14 कार्यों का लोकर्पण

नारायणपुर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 77 करोड़ 80 लाख रूपये के 26 कार्यों का भूमिपूजन एवं 8 करोड़ 11 लाख रूपये के 14 कार्यों का लोकर्पण किया। भूमिपूजन से संबंधित कार्यो में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के राजनांदगांव बारसूर रोड से माहका, खोड़गांव अंजरेल फुटहिल सी.सी.रोड निर्माण, नारायणपुर-गारपा मार्ग से आकाबेड़ा, ब्रेहबेड़ा से कंदाड़ी-कीहकाड-मुरनार-बेचा मार्ग, ट्रांजिट हॉस्टल नारायणपुर, 3 आंगनबाड़ी केंद्रों का भवन निर्माण, एनआरसी कक्ष निर्माण छोटेडोंगर, ग्राम माहका, बिंजली, बेनूर, झारा एवं एड़का के धान संग्रहण केंद्र में शेड निर्माण, इंग्लिश मीडियम स्कूल सिंगोड़ीतराई में डोम एवं अतिरिक्त कक्ष निर्माण, भाटपाल में उप स्वास्थ्य केंद्र भवन निर्माण, छोटेडोंगर, कोंगेरा, धौड़ाई, बेनूर, माहका, गरांजी एवं बिंजली में धान चबूतरा निर्माण, छोटेडोंगर एवं कांेगेरा में यात्री प्रतीक्षालय निर्माण, नारायणपुर/ओरछा में सामुदायिक शौचालय निर्माण, ओरछा में बाजार शेड निर्माण, 12 स्थानों में सोलर हाई मास्ट संयंत्र की स्थापना एवं 6 स्थानों में सोलर पम्पों की स्थापना सहित गली कंक्रीटीकरण कार्यों का भूमिपूजन शामिल है।

इसी प्रकार मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा 12 कार्यों का लोकार्पण भी किया गया। जिसमें आंगनबाड़ी केंद्र भवन घोटियापारा एवं कौशलनार, 15 नग धान चबूतरा, इंग्लिश मीडियम स्कूल में डायनिग शेड निर्माण, उप स्वास्थ्य नवीन भवन बड़ेजम्हरी, कुकड़ाझोर में नवीन पंचायत भवन, समुदायिक भवन महिमागवाड़ी, अटल समरसता भवन ओरछा, 30 ग्रामो में सोलर ड्यूल पम्प, 30 स्थलो में सोलर हाई मास्ट संयंत्र, बीएसएनएल टावर ओरछा में सोलर पावर प्लांट तथा कुकड़ाझोर एवं एडका में नवनिर्मित थाना भवन इत्यादि विकास कार्य शामिल है। निर्माण कार्यों के लोकार्पण और भूमिपूजन के अवसर पर विकास प्रदर्शनी भी आयोजित की गयी थी। जिसका अवलोकन मुख्यमंत्री द्वारा किया गया एवं योजनाओं के प्रदर्शन के लिए तारीफ प्रशंसा की गयी।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More